काश मैं कविता होती.. 📖🎼

काश मैं कविता होती,
सबके मन में रहती, सबके मन का कहती !
 

काश मैं ज्योति होती,
सबको मार्ग दिखाती, चाहे खुद जलती जाती !
 

काश मैं आशा होती,
सबके मन में जाती, सबको हिम्मत दिलाती !
 

काश मैं भाषा होती,
मधुर वचन बन जाती, सबके मन को भाती !
 

काश मैं हवा होती,
बादल के संग बहती, किसी बंधन में ना रहती !
 

काश …

2 thoughts on “काश मैं कविता होती.. 📖🎼

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s